Connect with us

Business

एसबीआई की इस चेतावनी को बिल्कुल भी ना करें नजर अंदाज हो सकते हैं कंगाल

कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री लगातार यह बयान दे रहे हैं कि आपदा को अवसर बनाना होगा। उनके इस बयान का कुछ लोग मजाक भी बना रहे हैं। लेकिन गौर किया जाए तो उनके इस बयान के बड़े मायने हैं। फर्क सिर्फ इतना है कि आपकी नीयत उसको लेकर कैसी है। पीएम मोदी के आपदा को अवसर बनाने के बयान का जहां एक तरफ मजाक बनाया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ साइबर अपराधी कोरोना जैसी महामारी को अवसर बना चुके हैं। इसको लेकर देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को एक बार फिर अलर्ट किया है। बैंक ने ग्राहकों को चेताया है कि बहुत जल्द साइबर अटैक होने वाला है। अगर ग्राहकों ने जरा सी लापरवाही बरती तो बैंक में रखे पैसे गायब हो सकते हैं।

एसबीआई

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से अपने ग्राहकों को आगाह किया है कि भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम ने भारत में एक फिशिंग अटैक की चेतावनी जारी की है। इसमें कहा गया है कि साइबर अपराधी आपको कोविद-19 के फ्री टेस्ट से संबंधित ईमेल भेजकर आपसे जानकारी मांगने का प्रयास कर सकते हैं। बता दें कि इससे पहले देश की खुफिया एजेंसी सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टिगेशन (सीबीआई) भी कोरोना संकट के इस घड़ी में साइबर अटैक पर अलर्ट जारी कर चुका है।

गौरतलब है कि हाल ही में खतरे को भांपते हुए सीबीआई ने आम लोगों को अलर्ट किया था। सीबीआई ने कोरोना वायरस के नाम पर किए जा रहे फ्राड को लेकर देश के सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय एजेंसियों को अलर्ट किया था। सीबीआई के मुताबिक, कोरोना से जुड़े अपडेट जानने के बहाने साइबर अपराधी डाउनलोडेड ऐप्स के जरिए लोगों का डिटेल चुरा रहे हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Business

दिल्ली में होगा ‘सीरोलॉजिकल सर्वे’, NCDC और दिल्ली सरकार संयुक्त रूप से करेगी

केंद्रीय गृह सचिव ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कि अध्यक्षता में 21 जून को हुई बैठक में दिल्ली में कोविड की स्थिति के बारे में लिए गए विभिन्न फ़ैसलों के कार्यान्वयन की समीक्षा की।

बैठक में बताया गया कि केंद्रीय गृह मंत्री द्वारा निर्धारित समयसीमा के अनुसार दिल्ली में कोविड प्रकोप वाले सभी क्लस्टर समेत कंटेनमेंट ज़ोन के पुनर्निर्धारण का काम 26 जून तक पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही घर-घर स्वास्थ्य सर्वे भी 30 जून को पूरा हो जाएगा।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के निर्देशानुसर दिल्ली में ‘सीरोलॉजिकल सर्वे’ पर भी चर्चा की गई। NCDC और दिल्ली सरकार संयुक्त रूप से यह सर्वे करेंगे। सर्वेक्षण 27 जून से शुरू होगा और सभी संबंधित सर्वे टीमों का प्रशिक्षण कल पूरा हो गया।

Continue Reading

Business

जबसे बीजेपी की सरकार आई तबसे पडोशी देशों से संबंध बिगड़े : अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार पर जमकर निशाम साधा है। गहलोत ने कहा कि जबसे देश मे एनडीए की सरकार आयी है तबसे पडोशी देशों के साथ हमारे संबंध खराब हुए है।

गहलोत ने कहा कि जब से NDA की सरकार आई है तब से हमारे पड़ोसी मुल्कों के साथ संबंध बिगड़ते ही गए हैं। क्या कारण है कि आज तमाम पड़ोसी मुल्क हमारे खिलाफ हो गए हैं? चाहे वो पाकिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, चीन हो। ये अभी तक रहस्य बना हुआ है कि चीन के साथ हुआ क्या है?

प्रधानमंंत्री जी को देशवासियों को विश्वास में लेना चाहिए था,परंतु दुर्भाग्य है कि जो तथ्य देश के सामने पेश किए गए उसका स्वागत चीन में हो रहा है। आज नहीं तो कल प्रधानमंत्री जी को हकीकत बतानी पड़ेगी कि वहां चीन के साथ क्या हुआ? छुपाने से काम नहीं चलेग।

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद गहराता जा रहा है। इस मुद्दे पर विपक्ष सरकार खिलाफ आक्रामक है। लगातर सवाल पूछ रही है।

Continue Reading

Business

‘रिकॉर्ड’ व्यापार सौदे अतीत की बात है!

कुछ समय पहले मीडिया रिपोर्ट्स यह घोषित करने के लिए बहुत अधिक थीं कि मेगास्टार चिरंजीवी के ‘आचार्य’ का व्यवसाय कई रिकॉर्ड स्थापित कर रहा था। यह भी कहा गया कि दिल राजू के पूर्व साथी लक्ष्मण ने निज़ाम क्षेत्र के लिए ‘चा आचार्य’ के अधिकारों को एक रिकॉर्ड राशि के लिए खरीदा था। लेकिन यह झूठा निकला। फिल्म का कारोबार अभी बंद नहीं हुआ है।

जैसा कि निर्माता सिनेमाघरों को फिर से खोलने के लिए इंतजार कर रहे हैं, चा आचार्य की टीम को इस तथ्य के साथ तालमेल रखना होगा कि उन्हें कोई फैंसी दर नहीं मिलेगी। Coronavirus प्रकोप गंभीर रूप से व्यापार प्रभावित किया है। कोई वितरक एकमुश्त खरीदने के लिए तैयार है।

जैसा कि हम पहले उल्लेख कर रहे हैं, “आरआरआर” के व्यापार सौदों राजामौली को भी फिर से जोड़ा गया है। वितरक पहले के सौदों के साथ जाने के लिए तैयार नहीं हैं। वे खड़ी कीमत में कटौती की मांग कर रहे हैं। # 20 अन्य बड़ी फिल्मों के साथ प्रभास भी ऐसा ही करते हैं।

इसलिए, किसी भी फिल्म के लिए “रिकॉर्ड” कीमतें अब केवल एक मीडिया प्रोडक्शन होंगी जब तक कि बाजार वापस नहीं बढ़ता।

Continue Reading

Recent Posts

Categories

Trending